12वीं के बाद NEET के बिना किए जाने वाले मेडिकल कोर्स कौन से है

ज्यादातर स्टूडेंट बायोलॉजी से 12th करने के बाद चाहते हैं कि वह मेडिकल लाइन में जाए, मेडिकल लाइन में ऐसे कई क्षेत्र हैं जिसमें तरह तरह की जॉब के अवसर उपलब्ध है आजकल के समय को देखते हुए मेडिकल लाइन में तरह-तरह के कोर्सेज मेडिकल कॉलेजेस में कराए जाते हैं जिनके लिए कई तरह की जॉब उपलब्ध है |नीट ( NEET) देश की सबसे बड़ी प्रवेश परीक्षा है एमबीबीएस ( MBBS) और BDMS कोर्सेज में एडमिशन के लिए हर साल 1500000 से ज्यादा स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल होते हैं लेकिन केवल 50 फ़ीसदी ही स्टूडेंट नेट (NEET)  की परीक्षा को क्वालीफाई कर पाते हैं|

 ऐसे में कई और ऐसे करियर के विकल्प हैं जिनको आप मेडिकल लाइन में जाने के लिए चुन सकते हैं | अगर आप नीट (NEET)  की परीक्षा को क्वालीफाई नहीं कर पा रहे हैं या फिर आपने  नीट (NEET) की परीक्षा नहीं दी है|
इन कोर्सेज को करने के लिए आपको यूनिवर्सिटी में अप्लाई करना होता है कई बार जो निजी मेडिकल कॉलेज होते हैं वह अपनी प्राइवेट परीक्षाएं कराते हैं और उसके बेस पर मेरिट बनती है एडमिशन होते हैं |आजकल मेडिकल कॉलेजों की भरमार है और तरह-तरह के मेडिकल कोर्सेज उपलब्ध है आप किसी को भी कर कर अपने करियर को आसानी से मेडिकल लाइन में बना सकते हैं|

आइए जानते हैं आप कौन-कौन से विकल्प मेडिकल लाइन में जाने के लिए चुन सकते हैं

Also Read:   12th के बाद हाइ सैलरी पाने के लिए किए जाने वाले कोर्स की जानकारी

1- बैचलर इन फार्मेसी ( B. Pharma)

बैचलर इन फार्मेसी को हम लोग आम भाषा में बी फार्मा के नाम से जानते हैं यदि आप फार्मेसिस्ट या क्या मिस्ड बनना चाहते हैं तो ऐसे में आपको दवाइयों के बारे में जानकारी होनी सबसे ज्यादा जरूरी है बी फार्मा का कोर्स 4 साल के लिए कराया जाता है यह अंडर ग्रैजुएट कोर्स है जिसको कहकर आप आसानी से मेडिकल लाइन में जा सकते हैं इस कार्य का बहुत ज्यादा स्कोप है इसमें आपको दवाइयों से जुड़ी जानकारियां दी जाती है और आप एक रेपुटेड हॉस्पिटल में भी आसानी से जॉब पा सकते हैं |

2- बीटेक बायोमेडिकल (B. Tech Biomedical)

बीटेक इन बायोमेडिकल इंजीनियरिंग का 4 साल का अंडर ग्रैजुएट कोर्स है| इसे करने के बाद आप बायो मेडिकल टेक्नीशियन, बायोमेडिकल इंजीनियर, बायोकेमिस्ट्स के तौर पर आसानी से काम कर सकते हैं इस कोर्स को करने के लिए आपको नीट ( NEET) की परीक्षा नहीं देनी होती है बस इस कोर्स के लिए आपको यूनिवर्सिटीज में आवेदन आवेदन करना होता है |

3- बीएससी न्यूट्रिशन (B. Sc Nutrition)

बीएससी न्यूट्रिशन 3 साल का अंडरग्रैजुएट कोर्स होता है इसे करने के बाद आपको किसी भी हॉस्पिटल हेल्थ क्लिनिक हेल्थ सेंटर मल्टीनेशनल कंपनी में बतौर डायटिशियन  के नाम पर आसानी से जॉब मिल जाती है यह कोर्स आजकल के समय को देखते हुए बहुत चलन में है और इसका स्कोप बहुत ज्यादा है |

4- बीए साइकोलॉजी (B. A. Psychology)

बीए साइकोलॉजी का कोर्स कोई भी स्टूडेंट कर सकता है चाहे वह मैथ स्ट्रीम से हो या फिर कॉमर्स स्ट्रीम से इस कोर्स को करने के लिए यह जरूरी नहीं है कि आपने ट्वेल्थ में बायोलॉजी सब्जेक्ट लिया हो बीएससी साइकोलॉजी करने के बाद आप किसी भी हेल्थियम मेंटल केयर काउंसलर बन सकते हैं इसके अलावा आप क्रिमिनल जस्टिस या फिर सोशल वर्क में भी अपना कार्य बना सकते हैं |

Also Read:   एयरोनॉटिकल इंजीनियर कैसे बने? योग्यता, एडमिशन प्रोसेस, करियर स्कोप व् टॉप 10 एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग कॉलेजेस की लिस्ट

5- बीएससी फिजियोथैरेपी (Bsc. Physiotherapy)

BSc physiotherapy का कोर्स 3 साल का अंडरग्रैजुएट कोर्स होता है इसे करने के बाद आप लेक्चरर की जॉब कर सकते हैं या फिर आप कोई फिजियोथेरेपी रिसर्चर, स्पोर्ट्स फिजियोथैरेपिस्ट, थेरेपी मैनेजर आसानी से बन सकते हैं इसके अलावा बीएससी फिजियोथैरेपी करने के बाद आप किसी भी हॉस्पिटल या फिर निजी क्लीनिक में भी थैरेपिस्ट की जॉब कर सकते हैं इस जॉब के लिए आजकल बहुत ज्यादा स्कोप है |

इसके अलावा कई और ऐसे कोर्सेज है जो कि आजकल आसानी से 12th के बाद मेडिकल लाइन में जाने के लिए कराए जाते हैं जैसे

  1. बीएससी इन कार्डियक परफ्यूशन (Bsc. In Cardiac Perfusion)
  2. बीएससी बायो टेक्नोलॉजी (Bsc. Biotechnology)
  3. बीएससी माइक्रोबायोलॉजी (Bsc. Microbiology)
  4. बैचलर ऑफ ऑक्यूपेशनल थेरेपी (Bachelor of Occupational Therapy)

अंडरग्रैजुएट कोर्स (Under graduate course) में एडमिशन लेने के लिए आप आसानी से किसी भी यूनिवर्सिटी में अप्लाई कर सकते हैं कई बार कुछ निजी कॉलेज (Private college) अपनी खुद की परीक्षा कराते हैं इन कोर्सेज में एडमिशन लेने के लिए | आपको जिस भी यूनिवर्सिटी या फिर कॉलेज से मेडिकल कोर्सेज करने हैं आपको उसके बारे में जानकारी जरूर प्राप्त करनी चाहिए क्योंकि कॉलेजेस और यूनिवर्सिटी इन के एडमिशन से रिलेटेड नोटिफिकेशन टाइम टू टाइम निकालती रहती है आपको हमेशा नोटिफिकेशन पर ध्यान देना चाहिए |

About Me